सुब्रमनियन स्वामी ने कहा ‘चार के गिरोह के कारण बीजेपी अगले चुनाव हार जाएगी’ 

By Sunoneta Team Thursday 25th of October 2018 09:46 PM
(0) (0)

सुब्रमनियन स्वामी

राज्यसभा के सदस्य और पूर्व मंत्री सुब्रमनियन स्वामी ने निर्मा विश्वविद्यालय में आयोजित युवा संसद के कार्यक्रम में भाग लेने के बाद गुरुवार को अहमदाबाद में एक न्यूज़ कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि भाजपा सरकार को अगले लोकसभा चुनाव में हार का सामना कर पड़ सकता है, जब तक कि सरकार, भ्रष्ट अधिकारियों को जेल भेज ना दे और भारत में काले धन वापस न लाए। उन्होंने यह भी कहा कि केन्द्रीय जाँच ब्यूरो (CBI) कार्यालय में हालिया विवाद के कारण भाजपा पार्टी को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ रहा है।

स्वामी ने आगे कहा, “केंद्र में इन चार लोगों का एक गिरोह है जो पी चिदंबरम को केंद्र सरकार में एक मंत्री के आदेश पर बचाने की इच्छा रखते हैं। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार या भारत के लोगों के हित में कुछ भी नहीं कर रहे हैं। इस स्थिति के दौरान हम लोगों को पार्टी के सदस्यों के तौर पर जनता से बात करते समय शर्मिंदगी महसूस होती है। अगले चुनावों में हम अपनी पार्टी के लिए प्रचार कैसे कर सकेंगे। यदि यह स्थिति अधिक समय तक चलती है, जब तक सरकार इन भ्रष्ट लोगों को सलाख़ों के पीछे नहीं भेजती और काला धन भारत वापस नहीं आता है, भाजपा अगले चुनावों में हार सकती है।”

स्वामी ने न्यूज़ कांफ्रेंस में PMO के पीके मिश्रा और भास्कर खुल्बे, राजस्व सचिव हस्मुख अधिया और CBI के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को जम कर भर्त्सना की।

उन्होंने आगे कहा, “मैं दृढ़ता से मानता हूं कि नरेंद्र मोदी भारत के सबसे अच्छे प्रधानमंत्री हैं लेकिन उन्होंने जो अधिकारियों का चयन किया वह सही नहीं था। दिल्ली के वायुमंडल में ऐसी भ्रष्ट हवा है जो व्यक्ति के दिमाग को खराब कर रही है।”

स्वामी ने यह भी कहा कि वह निकट भविष्य में प्रधानमंत्री को और भी ऐसे नाम देंगे जो सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा, “जब इस तरह के लोग हमारी सरकार में होते हैं तो हमें विपक्ष की आवश्यकता नहीं होती। ये वह लोग हैं जिन्होंने माल्या, मोदी और चोकसी को भारत से मुक्त रूप से भागने दिया। अब वह चिदंबरम को बचाने के लिए ऐसा कर रहे हैं। मैं यह भी कहूंगा कि प्रधानमंत्री को CBI प्रमुख आलोक वर्मा को हटाने का आदेश वापस लेना चाहिए, क्योंकि वह एक ईमानदार अधिकारी हैं। यह गिरोह कुछ और ईमानदार अधिकारियों को अपने पद से हटाने की कोशिश में है ताकि वे अपने मन मुताबिक काम कर सकें, लेकिन इस तरह वह प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी के पंखों को काटने की कोशिश कर रहे हैं।”

बाद में जब प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने एयरसेल-मैक्सिस भ्रष्टाचार के मामले में पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया, तब उन्होंने उस पर पर अपनी संतुष्टि अपने एक ट्वीट के माध्यम से व्यक्त की।

इससे पहले, बुधवार को, स्वामी ने ट्वीट किया कि वह कांग्रेस की नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के विभिन्न राजनेताओं के खिलाफ दायर किए गए सभी भ्रष्टाचार के मामलों को वापस ले लेंगे यदि मोदी सरकार “उनकी रक्षा करने पर अड़े रहे”।

 

अपना कमेंट यहाँ डाले