पटाखों पर सर्वोच्च न्यायालय के फ़ैसले के बाद भाजपा सांसद चिंतामणि मालवीय ने कहा ‘धार्मिक परम्पराओं के लिए यदि जेल भी जाना पड़े तो ख़ुशी से जाऊंगा’ 

By Sunoneta Team Wednesday 24th of October 2018 11:12 AM
(0) (0)

चिंतामणि मालवीय

मध्य प्रदेश के उज्जैन आलोट के भाजपा सांसद चिंतामणि मालवीय ने मंगलवार को एक ट्वीट कर कहा कि धार्मिक परम्पराओं के लिए यदि जेल भी जाना पड़े तो खुशी खुशी चला जाऊंगा पर दीवाली अपने परंपरागत तरीके से ही मनाऊंगा।

उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय के सोमवार के फ़ैसले जिसमें 8 बजे से 10 बजे शाम तक पटाखों को फोड़ने का समय निर्धारित किया गया था उस फ़ैसले को मालवीय ने चुनौती देते हुए कहा, “हिंदू परंपरा में किसी की भी दखलंदाजी बर्दाश्त नहीं कर सकता, लक्ष्मी पूजा कर रात 10 बजे के बाद ही पटाखे जलाऊंगा। यदि मुझे इस कारण जेल भी जाना पड़े तो में खुशी खुशी जेल भी जाऊंगा।”

मालवीय ने कहा कि “सोशल मीडिया पर मैंने अपनी बात रखी है। लक्ष्मी पूजा हमारे देश और धर्म में मुहूर्त के अनुसार होता है और रात 10 बजे बाद भी पटाखे जलाए जाते हैं। हिंदू परंपराओं पर ही बार-बार फैसले क्यों होते हैं, यह उचित नहीं है। इसलिए मैंने कहा है कि मैं दिवाली अपने तरीके से ही मनाऊंगा।”

 

अपना कमेंट यहाँ डाले