सबरीमाला मंदिर विवाद पर स्मृति ईरानी ने कहा ‘क्या आप महावारी के रक्त में भिगोए गए सैनिटरी नैपकिन अपने किसी दोस्त के घर ले जाते हो?’ 

By Sunoneta Team Wednesday 24th of October 2018 10:04 AM
(0) (0)

स्मृति ईरानी 

सर्वोच्च न्यायालय के सबरीमाला मंदिर विवाद फ़ैसले पर केंद्रीय वस्त्र मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा है कि “हर किसी को पूजा करने का अधिकार है, इसका यह मतलब नहीं कि आपको अपमानित करने का भी अधिकार प्राप्त है।” 

ईरानी ने CNN-न्यूज 18 द्वारा ट्वीट किए गए एक समाचार क्लिप में यह कहा है कि “सर्वोच्च न्यायालय के फैसले पर बात करने के लिए मैं कोई नहीं हूं क्योंकि मैं वर्तमान में कैबिनेट मंत्री पद की सेवा कर रही हूं।” यह ट्वीट अब मिटा दिया गया है।

उन्होंने आगे कहा है कि यह सामान्य ज्ञान है “क्या आप महावारी के रक्त में भिगोए गए सैनिटरी नैपकिन अपने किसी दोस्त के घर ले जाते हो? तो आप भगवान के घर में क्यों ले जाएंगे।” यह टिप्पणी उन्होंने एक सक्रियतावादी के सबरीमाला में खून से सने सैनिटरी नैपकिन ले जाने के इरादे पर प्रकाश डालते हुए कहा था।

शाम को, ईरानी ने ट्विटर पर अपनी रक्षा में सपष्टीकरण देते हुए ट्वीट किया कि "चूंकि बहुत से लोग मेरी टिप्पणियों के बारे में बात कर रहे हैं, मुझे मेरी टिप्पणी पर टिप्पणी करने दें। एक व्यावहारिक हिंदू के रूप मेरा विवाह जोरोस्ट्रियन से हुआ, मुझे प्रार्थना करने के लिए ज्वाला मंदिर में प्रवेश की इजाजत नहीं है।”

 

अपना कमेंट यहाँ डाले