राहुल गांधी के मानसरोवर यात्रा की तस्वीरों को कहा गया ‘गूगल से उठाई हुई’ 

By Sunoneta Team Saturday 8th of September 2018 10:38 AM
(0) (0)

राहुल गाँधी के कैलाश यात्रा की एक तस्वीर
 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोशल मीडिया के उपयोगकर्ताओं के निशाने पर फिर से हैं। इस बार, आरोप यह है कि राहुल ने गूगल से तस्वीरों को उठाकर अपने सोशल मीडिया पर डाला है। उन्होंने 5 सितंबर, 2018 को शाम 6:26 बजे अपने ट्विटर अकाउंट पर दो तस्वीरें ट्वीट की और चित्र का शीर्षक दिया "राक्षस ताल झील की आश्चर्यजनक सुंदरता। #KailashYatra।"

लगभग रात 11 बजे, विकास पांडे जो कि ट्विटर पर @MODIfiedVikas के नाम से हैं, दावा करते है कि राहुल गांधी द्वारा साझा की गई तस्वीर गूगल छवि खोज इंजन से ली गई एक सामान्य तस्वीर थी।

लिखने के साथ ही इस ट्वीट को सैकड़ों बार से भी अधिक रीट्वीट किया गया है और 1,000 से अधिक बार लाइक (पसंद) किया गया है। इस पोस्ट को लिखते समय इस ट्वीट की 3,534 बार रीट्वीट और 5,624 बार लाइक किया जा चूका था। पांडे ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा भी फॉलो किये जा रहे है।

प्रीति गांधी जो कि "बीजेपी महिला मोर्चा" की सोशल मीडिया के राष्ट्रीय प्रभारी हैं, उनको मोदी सहित भाजपा के कई शीर्ष नेता ट्विटर पर फॉलो करते हैं। उन्होंने राहुल पर यह आरोप लगाया है कि राहुल गांधी ने इंटरनेट से डाउनलोड की गई तस्वीर को ट्वीट किया है। बीजेपी के सोशल मीडिया के प्रमुख अमित मालवीय ने प्रीति के ट्वीट को दोबारा रीट्वीट भी किया है।

विकास सारस्वत जो स्वराज मैग के लेखक हैं उन्होने यह ट्वीट किया, "@ Rahulgandhi जी कृपया अपने कैमरे से ली गई तस्वीरों को पोस्ट करें।और कृपया एक फोटो अपना भी डालो  कैलाश मानसरोवर के साथ। यह फेक न्यूज़ वेबसाइट पोस्टकार्ड न्यूज़ के संस्थापक महेश विक्रम हेगड़े ने भी शेयर किया था। फिल्म निर्माता विवेक अग्निहोत्री ने भी इसे शेयर किया।

"भारत सिंह चंद्रावत #BJY" नमक ट्विटर यूजर सबसे पहले राहुल के तस्वीरों पर दावा करने वालों में से थे कि यह तस्वीरें गूगल छवि खोज की हैं।

यह भाजपा का संगठित अभियान है क्योंकि बहुत सारे भाजपा के जाने माने समर्थकों, जैसे कि नंदीता ठाकुर, विशाल रामानुज, सुरेश नाखुआ, इत्यादि, ने राहुल की तस्वीरों पर ट्वीट किया है। इनमें से बहुतों को मोदी फॉलो करते हैं और बहुत सारे भाजपा में किसी न किसी पद पर काबिज़ हैं। सुरेश नाखुआ भाजपा प्रवक्ता हैं जबकि नंदीता ठाकुर भाजपा खेड़ा इलाके का उपप्रधान हैं।

बहुत सरे अन्य अकाउंट भी इस तस्वीर के प्रचार को आगे बढ़ाने में आक्रामक रूप से शामिल हैं।

ऑल्ट न्यूज़ ने गूगल से तस्वीरों को फ़िल्टर करने के लिए एक अतिरिक्त साइट जस्ट डायल के साथ "झील राक्षस ताल" की गूगल छवि की खोज की। उन्होंने पाया कि राहुल गांधी के इंस्टाग्राम अकाउंट से जेडी सोशल अकाउंट पर एक छवि क्रॉस-पोस्ट की गयी है।जस्ट डायल का सोशल नेटवर्किंग प्लेटफार्म 'जेडी सोशल' अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से सामग्री एकत्र करता है। राहुल गांधी के जस्ट डायल के प्रोफाइल में उनके ट्विटर और इंस्टाग्राम की भी सामग्री है।

राहुल की वह तस्वीरें जो बहुत सारे लोगों के द्वारा गूगल का चित्र होने का दावा किया गया है दरअसल वह वास्तविक में राहुल के इंस्टाग्राम की तस्वीरें थी जिसे उनके जस्ट डायल के अकाउंट द्वारा निकला गया था और ट्विटर पर भाजपा के लोगों के द्वारा गूगल छवि बताया जा रहा था।


राहुल गाँधी के इंस्टाग्राम पोस्ट का स्क्रीनशॉट

उनमे से एक तस्वीर को लेकर भी संदेह व्यक्त किया गया था, परन्तु उसे जल्द ही ख़ारिज कर दिया गया।

 

अपना कमेंट यहाँ डाले